Posted On: Friday, September 27, 2019

Aagantuk: Shubham's murder opens truth behind many unknown facts (Crime Patrol Satark Season 2, Ep 48, 49 on 18/19 Sep, 2019)


आगंतुक
Unforeseen
If you know its Inside Story, please help me and comment the link below :)
Shubham a father of 3 kids is a freelancer website content writer. Jiya is the youngest in the family who is a minor and Tara is his eldest daughter while Aman is between Jiya and Tara. Aman is addicted to drugs. A day Shubham catches him red-handed so Shumbham and his wife Nandini decide to keep Aman away from their home. Shubham believes once Aman will get into some responsibilities, he will understand the value of money and time.
Aman is finally away from the home and now he is staying with some of his friends. After this, a day Shubham leaves his home towards Delhi for some business purpose but does not return. His phone is also unreachable. Maharashtra police find his body in Pune and now it is a matter of suspicion. Why Shubham was found in Pune while he was traveling to Delhi? Nandini points her finger towards son Aman who was already fade-up with his father Shubham so Police arrests Aman for questioning.

On the other hand, a private detective who is retired from Police, calls the investigation officer of this case and tells him that he can help him solve this case and police are shocked to know another truth that Shubham was the stepfather of these three kids. Before the demise of Aman’s real father, Shubham used to reside near their home on rent and came closer to Nandini. Their real father started having doubts on Nandini’s character so he approached this detective to bring some proof. After watching all evidence before him, he died of shock.

शुभम एक फ़्रीलैन्सर वेब्सायट कांटेंट राइटर है और 2 बेटी और एक बेटे का पिता है. सबसे छोटी बेटी जिया नाबालिग़ है और तारा सबसे बड़ी बेटी है जबकी इन दोनो के बीच में है बेटा अमन. शुभम ड्रग अडिक्टेड है जिसको लेकर घर में बहुत तनाव का माहौल रहता है. एक दिन शुभम को अमन के बैग से हार्ड ड्रग मिलती है जिसके बाद आख़िरकार शुभम और उसकी पत्नी नंदिनी ये फ़ैसला लेते हैं की शुभम को घर से दूर रखा जाए जिससे कि वो अपनी ज़िम्मेदारियों को ख़ुद समझे और जब ख़ुद पैसे कमाएगा तो उसको दुनियादारी की समझ आएगी.

अमन को घर से अलग कर दिया जाता है और वो अपने कुछ दोस्तों के साथ कहीं और रहने चला जाता है. इसके बाद एक दिन शुभम अपनी नंदिनी से ये बोल कर निकलता है की वो किसी काम से दिल्ली जा रहा है. शुभम वापस लौट कर नहीं आता और उसका फ़ोन भी नहीं लग रहा है. महाराष्ट्र पुलिस को शुभम की लाश पुणे में मिलती है जिसके बाद ये साज़िश गहरा जाती है की शुभम दिल्ली जाने का बोल कर पुणे क्यू गया था. नंदिनी का पहला शक बेटे अमन पर है जिसको शुभम से सबसे ज़्यादा चिढ़ थी. पुलिस अमन को कस्टडी में लेकर पूछताछ करती है.

दूसरी ओर एक पुलिस से रेटायअर्ड प्राइवट डिटेक्टिव इस केस के इन्वेस्टिगेशन ऑफ़िसर को फ़ोन कर के बताता है कि वो शुभम मर्डर केस में उनकी मदद कर सकता है और इसके बाद पुलिस के सामने पहली चौकाने वाला सच पता चलता है की शुभम इन बच्चों का असली पिता नहीं है. शुभम इनके घर के पास किराए पे रहता है और उसकी पत्नी से नज़दीकियाँ बढ़ने के बाद इनके पहले पिता ने डिटेक्टिव से प्रूफ़ लाने की मदद माँगी थी और प्रूफ़ अपनी आँखों से देखने के बाद सदमे से उनका हार्टफैल हो गया था.
Online Episode on SonyLiv:
Part 1: www.sonyliv.com...18-Sep-2019
Part 2: www.sonyliv.com...19-Sep-2019

Online Episode on MXPlayer:
Part 1: www.mxplayer.in...18-Sep-2019
Part 2: www.mxplayer.in...19-Sep-2019

Online Episode on YouTube (Available in few countries):
Part 1: www.youtube.com/watch?v=BSr22d1HRwA
Part 2: www.youtube.com/watch?v=M9hm_mQLR_k

No comments:

Post a Comment