Posted On: Monday, March 5, 2018

Case 10/2018: Mystery behind the missing case of Arjun (Ep 900, 901 on 3, 4 Mar, 2018 Crime Patrol Satark)


2018 का दसवाँ केस
Case 10/2018

(Gone Missing, Ep. 900, 901)
अर्जुन मिश्रा, बड़ा भाई राजन, बहन अंकिता और माँ बाप का एक छोटा सा परिवार है. बहन शादीशुदा है और अपने पति के साथ रहती है. अर्जुन एक रात घर वापस नहीं लौटता. उसके घर वालो को उसकी चिंता होने लगती है तो वो लोग पुलिस का दरवाज़ा खटखटाते हैं. पुलिस अर्जुन के 2 दोस्तों ललित और एक और दोस्त से पूछताछ करती है क्युकी अर्जुन उस रात उन्हीं लोगों के साथ आखिरी बार एक होटल में खाना खाते देखा गया था.
पुलिस अपने खबरियों को भी काम पर लगाती है तो एक चौकाने वाली बात सामने आती है की अर्जुन पुलिस के लिए खबरी का काम करता था. उसके दोस्त ये भी बताते हैं की वो लोगों के बहुत काम आता था. किसी भी तरह का विवादित मामला बहुत आसानी से सुलझा देता था. इसी तरह से एक खबरी से पुलिस को एक और चौकाने वाली खबर मिलती है की कुछ समय पहले अर्जुन को बेगुसराई पुलिस ने एक बैंक रॉबरी में धर दबोचा था.

अब पुलिस के लिए ये समझना मुश्किल हो रहा है की असल में अर्जुन अच्छा आदमी था या बुरा. पुलिस की तफ्तीश को ६ महीने बीत जाते हैं मगर अर्जुन का कुछ भी पता नहीं चलता है. अर्जुन का बड़ा भाई राजन पुलिस थाने के सामने धरना देना शुरू कर देता है और दबाव डालता है की अर्जुन मिसिंग केस सीबीआई को दिया जाए.

Arjun Mishra, his brother Rajan, sister Ankita and parents have a small family where their sister is married to sushil and live with him. One night Arjun does not return home.His family members start worrying about him and knock on the door of the police. The police interrogate Arjun's two friends Lalit and one more friend as Arjun was last seen having dinner with the same people in a hotel that night.

When the police approach their informers, a shocking thing comes to the fore that Arjun used to work as an informer for the police. His friends also say that he was very useful to the people. And he was expert in resolving any dispute very easily. Similarly, the police get another shocking news from an informer that some time ago Arjun was caught by Begusarai police in a bank robbery.

Now it is getting difficult for the police to understand whether Arjun was actually a good man or a bad person. Six months pass for the police investigation but nothing is coming out. Arjun's elder brother Rajan starts a sit-in in front of the police station and pressures the police that Arjun's missing case should be handed over to the CBI.
Online Episode on SonyLiv:
Part 1: www.sonyliv.com...04-Mar-2018
Part 2:
www.sonyliv.com...03-Mar-2018
Online Episode on YouTube:
Part 1: www.youtube.com/watch?v=uD9Z-NWW9Gs
Part 2:
www.youtube.com/watch?v=6X-d9wqJfCE

No comments:

Post a Comment