Posted On: Monday, March 26, 2018

Case 11/2018: Allahabad University Scholar shot dead during election campaigns (Episode 902, 903 on 12th, 11th March, 2018)


2018 का ग्यारहवां केस
Case 11/2018
Nitin Jaiswal (Mandar Jadhav) is a student of research at India's one well-known university. He does not take much interest in Politics while the university's elections are also coming and campaigning is at the peak. He believes that the candidate that gives better clarity on their agenda, will get his vote.
A night coming back from somewhere when he is just opening doors of his room, a man comes from behind and shoots him. Nitin dies on the spot. Nearby people bring him to the hospital but where doctors declared him dead. Murder in between election season points towards a political murder but police want to investigate first before giving any statement.

Police come to know that some time back Nitin's engagement was fixed with a girl Prerna (Sharvi Mota) which was broken after Nitin's denial. Police's prime suspects are Prerna's Father (Aasit Redij) and Brother (Puneet Kumar) but later they come to know that the marriage was broken not because of Nitin but Prerna was in love with some other guy and she requested Nitin to refuse the proposal.

Inside Story

इलाहाबाद विश्वविद्यालय भारत के प्रमुख विश्विद्यालयों में से एक है। यह एक केन्द्रीय विश्वविद्यालय है और आधुनिक भारत के सबसे पहले विश्वविद्यालयों में से एक है। इसे 'ईस्ट के आक्सफोर्ड' नाम से जाना जाता है। अक्टूबर का समय था जब पूरे विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव का माहौल छाया हुआ था। 8 ओक्टोबर की बात है जब ये विश्वविद्यालय शाम के समय एक गोली की आवाज़ से गूँज उठा। जियोग्राफी के एक रिसर्च स्कॉलर को यूनिवर्सिटी से सटे बेली रोड पर गोली मार दी गई थी। पिछले एक हफ्ते में हुई ये दूसरी घटना थी। इससे पहले तारांचद हॉस्टल कैंपस के बाहर बसपा नेता राजेश यादव को गोली से मार दिया गया था और उसके बाद पूरे सिविल लाइन्स में खूब जमकर बवाल हुआ था। इस बार फिर ताराचंद हॉस्टल में ही रह चुके एक स्टूडेंट उपेंद्र यादव की हत्या की गई थी। उपेंद्र ग़ाज़ीपुर के जमानियां गॉंव का रहने वाला था और बहुत ही सिंपल परिवार से था। उसके साथ रहने वाले लड़को का भी यही कहना था की उपेंद्र बहुत की सिंपल इंसान था। वो किसी राजनितिक पार्टी या उससे जुड़े लोगों के संपर्क में भी नहीं रहता था।

कैंट पुलिस के अनुसार उपेंद्र उस रात खाना खा कर लौटा था और अपनी लॉज के बाहर जैसे ही गाडी कड़ी करने लगा की अज्ञात बदमाश ने उस पर गोली चला दी। गोली उसके सर के पिछले हिस्से में लगी जिसके बाद वो ज़मीन पर गिर पड़ा। आसपास के लोगों को लगा की वो किसी एक्सीडेंट का शिकार हो गया है और उसे तुरंत अस्पताल पहुचाया गया जहाँ डॉक्टर्स ने बताया की उसके सर पर गोली लगी है। उसकी नाज़ुक हालत को देखते हुए उसे उसी रात लखनऊ के KGMU हॉस्पिटल में रेफेर कर दिया गया। उसकी कनपटी से गोली को निकाल दिया गया था और वो कोमा में था।

यूनिवर्सिटी कैंपस में उपेंद्र को गोली लगने का मुद्दा गरम होने लगा था और ये कोई चुनावी मुद्दा न बने इसके लिए पुलिस प्रशासन भी सतर्क था। उपेंद्र ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन किया था और तब वो ताराचंद हॉस्टल में रहता था। इस लॉज में वो कुछ समय पहले ही शिफ्ट हुआ था मगर उसके हॉस्टल में रहने वाले जूनियर्स और सीनियर्स से अभी भी सम्बन्ध बने हुए थे। उसका हॉस्टल आनाजाना लगा रहता था। पुलिस का ये कहना था की जबतक मामले का पूरा खुलासा नहीं होता, इसको इलेक्शन के साथ जोड़ना सही नहीं हैं।

यूनिवर्सिटी की पिछली छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह ने पूरे मामले की जांच की मांग की थी। उसका कहना था की इस यूनिवर्सिटी में पूरे देश से लोग पढ़ने आते हैं और इस तरह की वारदात से यूनिवर्सिटी की इमेज खराब हो रही है। उसका ये भी कहना था की एक स्कॉलर जिसने पॉलिटिक्स से दूरदूर तक कोई लेना-देना नहीं था उसका इस प्रकार से क्यों मारा गया होगा?
Know More...

YouTube:
Part 1: www.youtube.com/watch?v=NvpWSbTBs9I
Part 2: www.youtube.com/watch?v=VTtQIefMQ-Y

SonyLiv:
Part 1: http://bit.ly/2FOo32I
Part 2: http://bit.ly/2GJHTJz
Search Tags: Aasit Redij, Akhil Kataria, Alok Kumar, Ankita Dubey, Bhuvnesh Shetty, Mandar Jadhav, Muzaffar Khan, Nishant Singh, Puneet Channa, sanjeev tyagi, Sharvi Mota, Shirin Sewani, Suman Singh, Kundan Roy, Khushboo Sawan, Upendra Yadav, Allahabad University, Murder, University elections, shooter Rambabu

No comments:

Post a Comment