Posted On: Friday, March 28, 2014

The Motive: Keshav takes revenge from Manohar Lumi after 22 years (Episode 251 and 252 on 28st, 29nd March 2014)

The Motive
मकसद


Story start from a burglary. Keshav Sonda, a 29-30 year old man who snatches a bag full of money from a man outside the bank and runs away. Security guards chases him and put them behind bars.

Inside jail he starts making contacts with some other criminals and after coming out of the jail he arranges a Desi Katta. now his brother Nagesh is also with him. Later he manages one more man named Neeraj with him and asks him to help them to chase their motive.

A night when head of the village Manohar Lumi is passing through a road on his bike, Neeraj stops him and asks him to come with him towards jungle. Manohar is already known to Neeraj so he comes with him. There Keshav and Nagesh shoots Manohar with their guns. The time they are firing, a bullet hits right leg of Keshav.

Since Manohar did not reach home, his family and few other members starts looking for him and reached to same jungle. They finds his blooded body and admits him to the hospital where doctors declares him dead.

Investigation has started but police is not able to find the murderer and motive of the murder. They put their informers to the work and one of them tells police that since the killing, two guys are missing from the village and their names are Keshav Sonda and Nagesh Sonda.

Lets watch the story why Keshav and Nagesh killed Manohar Lumi.

कहानी शुरू होती है एक चोरी की घटना से. केशव सोंडा नाम का युवक एक बैंक से बाहर निकल रहे एक आदमी का रुपियों से भरा बैग छीन कर भागता है. बैंक के सिक्यूरिटी गार्ड्स उसको पकड़ लेते हैं और उसे जेल में डाल दिया जाता है. जेल में वो लोगों से संपर्क बनाना शुरू करता है और बाहर निकलने पर देसी कट्टा का इंतज़ाम करता है. उसका भाई नागेश भी उसके साथ है.

इसके बाद वो नीरज नाम के एक आदमी को बोलता है उसकी कुछ सहायता करने को. एक रात जब गाँव के मुखिया मनोहर लोमी अपनी मोटर साइकिल पर एक सुनसान रस्ते से गुज़र रहे हैं तभी नीरज उनको रोकता है और घने जंगले में बहला कर ले जाता है. वहां पहुचने पर केशव और नागेश मनोहर लोमी को मौत के घात उतार देते हैं. देसी कट्टा चलते समय एक गोली केशव के पैर में भी लग जाती है.

मनोहर के देर तक घर न पहुचने पर घर वाले उनकी तलाश में लग जाते हैं और काफी मशक्कत के बाद मनोहर की लाश उन्हें जंगले में मिलती है. पुलिस तफ्तीश शुरू करती है मगर उन्हें हत्या का मकसद समझ नहीं आता है. पुलिस अपने खबरियों को काम पे लगाती है तो पता चलता है की केशव और नागेश नाम के दो युवक गाँव से गायब हैं.

आइये देखिये पूरी कहानी क्या है और केशव ने मनोहर लोमी को क्यूँ मारा.

YouTube:
Part 1: http://www.youtube.com/watch?v=2c4beqB3Dbw
Part 2: http://www.youtube.com/watch?v=u1qDoTvLDok

SonyLiv:
Part 1: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-351-march-28-2014
Part 2: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-352-march-29-2014

Below is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/03/crime-patrol-man-avenges-fathers.html


Other Tags: Arun Yadav, Bhola Oraon, Balshokra village, Chanho

Read More

Posted On: Friday, March 21, 2014

Quest for happiness: Who killed carpenter Satnam and why? (Episode 249 and 250 on 21st, 22nd March 2014)

Quest for happiness
ख़ुशी की तलाश
Kuljeet's (played by Rishina Kandhari) husband Satnam (played by Vivek Rawat) who is also a father of 2 kids and a daily wage earner without owing a shop. His whole family depends on his daily wages. His wife Kuljeet is a ambitious lady who is frustrated of his husband's small earnings.

Kultijeet wants a scooty but it is not possible for Satnam. Finally, Satnam gets a contract of 2.5 lakh in which he involves 3 more persons. His family is happy now and he buys scooty for Kuljeet, new cloths for kids.
All goes well but after a few days, the same condition comes back. Bad economic conditions and daily quarrels between Kuljeet and Satnam are again started. These critical situations make Satnam an alcoholic. Kuljeet is also spending her life as before. Most of the time when Satnam comes back to his home in the evening, he finds the doors are locked. Kuljeet does not clarify what does she do and how does she manage fuel for her scooty.

A day Satnam is waiting at the same place for work where some other labors also look for some daily work, a lady named Rashmi (played by Melanie Nazareth) comes and asks him for some woodwork at her home. Satnam starts working at her home and in some time they both start feeling comfortable with each other. Satnam feels that his search for happiness is over, but suddenly day police find Satnam's body is a canal. His throat is slit and his body is all in a pool of blood.


Kuljeet Played by
Rishina Kandhari
सतनाम सिंह, पेशे से एक कारपेंटर है और उसकी जीविका रोज़ की मजदूरी पर ही निर्भर है. चूंकि उसकी कोई अपनी दुकान नहीं है, वो रोज़ होने वाली आमदनी पर ही आश्रित है. दूसरी तरफ उसकी पत्नी कुलजीत एक बहुत ही महत्वाकांक्षी औरत है जो की अपने पति की कम कमाई से दुखी है. शादी से पहले उसने बहुत बड़े बड़े सपने देखे थे मगर उसकी शादी एक ऐसे आदमी से होगई है जिसके लिए कभी कभी एक दिन की राज़ी रोटी कमाना भी बहुत मुश्किल हो जाता है.

कुलजीत बहुत दिन से चाह रही है की सतनाम उसके लिए एक स्कूटी खरीद दे मगर सतनाम के लिए ये संभव नहीं है. एक दिन उससे ढाई लाख का एक घर ने काम का कॉन्ट्रैक्ट मिलता है जिसमे तो अपने साथ तीन लोगों को और लगता है. उसकी पत्नी बहुत खुश होती है और जिद कर के स्कूटी खरीद लेती है. सतनाम अपने बच्चों के लिए भी नए कपड़े खरीदवाता है.

कुछ दिन तक सबकुछ ठीक चलता है मगर फिर वही समय वापस लौट आता है. पैसे की तंगी और रोज़ की खट-खट शुरू हो जाती है. सतनाम पीना शुरू कर देता है और दूसरी तरफ कुलजीत अपनी दुनिया में मस्त रहती है. अक्सर सतनाम जब घर लौटकर आता है तो उसे घर में ताला लगा मिलता है.

वो रोज़ की तरह नौकरी की तलाश में चौराहे पे बाकी कारपेंटर के साथ खड़ा होता है. एक दिन रश्मि नाम की एक औरत उसके पास आती है और कहती है की उसे अपने घर में कुछ काम करवाना है. सतनाम उसके घर जाकर काम शुरू कर देता है. धीरे धीरे सतनाम की जिंदगी में बदलाव आने शुरू हो जाते हैं और वो खुश रहने लगता है. उसकी ख़ुशी की तलाश आखिरकार ख़तम हो जाती है मगर फिर अचानक एक दिन पुलिस को सतनाम की लाश एक नाले में पड़ी मिलती है. उसका शरीर खून से लथपथ है और उसका गला कटा गया है.

YouTube:
Part 1: https://www.youtube.com/watch?v=62nbZSjOJKQ
Part 2: https://www.youtube.com/watch?v=l-SF6BtRC94

SonyLiv:
Part 1: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-349-march-21-2014
Part 2: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-350-march-22-2014

Thanks to Sharma Upma for helping me in getting Inside Story of the case :)
Below is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/04/crime-patrol-woman-held-for-husbands.html
Other Tags: manpreet kaur, jeewan singh, ranjeet singh, ludhiyana, nanaksar, praveen rani, sonu, sukkha, 50 thousand, sindhwa canal

Read More

Posted On: Friday, March 14, 2014

Benchmark: Mumbai acid attack victim Preeti Rathi dies after 1 month battle for life (Episode 347, 348 on 14, 15 March 2014)


हर माँ बाप का ये सपना होता है कि उनका बच्चा सफलता कि उचाइयां छुए और माँ-बाप कि खुशियोें दोगुनी तब हो जाती हैं जब उनकी बेटियां अपने जीवन में सफल होती हैं। 23 साल कि प्रीती राठी भी एक ऐसी होनहार स्टूडेंट थी जो कि अपने बलबूते पर नेवी में नर्सिंग कि नौकरी ज्वाइन करने जा रही थी। उसके लिए ये 4 साल कि तपस्या का फल था। पानीपत में पैदा हुई प्रीती पिता अमर सिंह राठी के खानदान कि पहली संतान थी जिसने सफलता कि इन बुलंदियों को छुआ था। दिल्ली से मुम्बई आने के बाद 2 मई 2013 कि सुबह मुम्बई में उसकी पहली सुबह थी जिसके बाद उसे लेफ्टिनेंट नर्स कि पोस्ट पर कोलवा के INHS अश्विनी हॉस्पिटल में ज्वाइन करना था।
ट्रैन से उतरने के 10 मिनट के अंदर ही एक नक़ाबपोश हमलावर ने उस पर एसिड के हमला किया जिससे उसका गला और फेफड़ा बुरी तरह से झुलस गया। प्रीती को तुरंत बॉम्बे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया जिसके 1 महीने के बाद 2 जून को आखिरकार प्रीती ज़िंदगी कि जंग हार गई।

प्रीती के एसिड अटैक के बाद पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया मगर उनमे से कोई भी गुनहगार साबित नहीं हो पाया। पुलिस तफ्तीश कई महीनो तक चली और इस बीच सरकार ने प्रीती के घरवालों के लिए मुआवज़ा भी घोषित किया। पुलिस तफ्तीश के दौरान ये शक भी सामने आया कि हमले का निशाना कोई और रहा होगा और शिकार प्रीती होगई।
Acid attack victim
Late Preeti Rathi
अगस्त 2013 में प्रीती के पिता अमर सिंह ने कोर्ट में ये याचिका दायर करी कि शहर पुलिस द्वारा केस में कोई आरोपी अभी तक नहीं पकड़ा गया है सो सरकार ये केस सीबीआई को सौपे।
प्रीती के एसिड अटैक के करीब 9 महीने बाद सीबीआई ने आख़िरकार मुख्य आरोपी को ढूंढ निकला।

Its a dream of every parent that their child will beocme a successful person and their happiness really fulfills when their daughters lightens their lives. 23 year old Preeti Rathi (played by Ruchi Savarn) was also a nascent daughter who established herself in a job of nursing in indian navy. He was about to join her job at Mumbai. For her, it was a fruitful end of her 4 year long austerity.

Preeti was born at Paneepat and he was first among her entire family who reached on top. She reached Mumbai from Delhi on 2nd may 2013 to join at INHS Ashvin Hospital, Kolva.

within 10 minutes of she got down from the train, a masked man attacked her with Acid. That attack badly impacted her throat and lungs. She was immediately admitted to Bombay hospital after the attack.

Police arrested so many people as accused but none of them was found guilty. The investigation went for months and during this government announced compensation to her family.

The matter went into limbo as police was also in surmise that Preeti was attacked by mistake and the target might be someone else, no Preeti.

In August 2013 Preeti's father Amar singh filed a petition that they want CBI enquiry of the case becuase city police is still not able to find the evidence and reason of attack and murder.

It took near 9 months from that attack, CBI found the guilty.

YouTube:
Part 1: www.youtube.com/watch?v=Lunku9CiJ8k
Part 2: www.youtube.com/watch?v=9wz0vypQebE

SonyLiv:
Part 1: www.sonyliv.com...ep-347-mar-14-2014
part 2: www.sonyliv.com...ep-348-mar-15-2014

Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/03/crime-patrol-preeti-rathi-case-bandra.html





Read More

Posted On: Sunday, March 9, 2014

Pretense: Actress missing, social networking involved, love angle...yet no crime! (Episode 345, 346 on 7th, 8th March 2014)


ढोंग
Pretence


44 वर्षीय नंदिता करमाकर एक थिएटर आर्टिस्ट है जिसका एक बेटा भी है. नंदिता और उसके पति के बीच का रिश्ता अच्छा नहीं है. दोनों को ये लगता है की दोनों का ही विवाहेतर संबंध है.

पुलिस को कसारा घाट के पास एक कार मिलती है जिसमे तलाशी लेने पर पुलिस को एक्ट्रेस नंदिता करमाकर का कुछ सामान मिलता है. उन्हें नंदिता का मोबाइल फ़ोन भी मिलता है. पुलिस मोबाइल की सहायता से नंदिता के पति तक पहुचती है और पता करने की कोशिश करती है की सारा माजरा क्या है और कार के अन्दर से नंदिता कहाँ गई. पुलिस उनलोगों की तलाश करती है जिन्होंने सबसे पहले इस कार को देखा था और उसके बाद ये पता करती है की ये कार किसके नाम पर है. पुलिस को ये जान कर हैरानी होती है की कार कुछ ही दिन पहले सेकंड हैण्ड खरीदी गई थी.

पुलिस उस आदमी तक पहुचती है जिसने ये कार खरीदी थी. सख्ती से पूछ-ताछ करने पर कुछ ऐसी तथ्य सामने आते हैं जो सभी को हैरान करते हैं. आइये देखिये की ये सारा रहस्य है क्या. क्या नंदिता मर चुकी है? अगर हाँ तो उसकी लाश कहाँ है!

 Alka Punewar
Nandita Karmakar (marathi actress Alka Punewar) who is a 44 year old theatre actress and mother of one. Her relation is not good with her husband because they both think that they has extra marital affair.

Police finds a car near Kasara Ghaat and probs a accidental case but they does not find any person inside the car. They finds some goods from the car and confirms that these are are related a lady named Nandita. They calls her husband and tell him that they found all these things during that accidental case.

Police identifies the people who first found that accident case then approaches few more clue about the car that the car was recently bought through internet and now who is the owner of the car.

Let see how police unfolded the whole mystery also see how social networking site Facebook was also involved in this missing case.

YouTube:
Part 1: http://youtu.be/k9HyZ67vW5I
Part 2: http://youtu.be/hkMVp9cmLvM

Sony Liv:
Part 1: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-345-march-7-2014
Part 2: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-346-march-8-2014


Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/03/crime-patrol-missing-marathi-actress.html

Other Tags: Alok Paliwal, Marathi, Kopri, Sanjay Sonkar, Khopoli valley

Read More

Posted On: Sunday, March 2, 2014

False Pride: Minor Smriti married to 37 year elder and then killed by father for pride (Episode 344 on 1st March 2014)




हरियाणा देश के उन राज्यों में से है जहाँ के कुछ गाँव में आज भी लड़कियों को दबा-कुचल के रखा जाता है. यहाँ आज भी एक लड़की की शादी किससे हो रही है और कब हो रही है, इसमें लड़की की मंज़ूरी लेना उचित नहीं समझा जाता. परिवारों को आपस में तय करना होता है और उसके बाद पंचायत की राय ले ली जाती है. अगर पंचायत प्रस्ताव पर रजामंद होती है तो शादी को अंजाम दिया जाता है.

ये कहाँ है इन्हीं कुप्रथाओं में से गुजरी एक लड़की स्मृति (एहसास चन्ना) की. 17 साल की स्मृति अपने माँ-बाप की इकलौती बेटी है. स्मृति के चाचा शादी लायक है सो उसके चाचा की शादी देसिका नाम की एक लड़की से तय होती है जो की 55 साल के हुकुम नाम के एक किसान की बहन है. देविका की मुह दिखाई के दौरान हुकुम-देविका के पिता की नज़र स्मृति पर पड़ती है. वो स्मृति के पिता के सामने ये प्रस्ताव रखते हैं की उनके घर के लड़की देविका इस घर में आ जाये और इस घर की स्मृति उनके घर में आ जाए. मतलब की स्मृति की शादी उससे ३७ साल बड़े हुकुम से करवा दी जाए जिससे की उनके परिवार को एक वारिस मिल सके.

लड़कियों के इस लेनदेन की प्रथा को इन गाँव में अटा-सटा की प्रथा कहते हैं. स्मृति को शादी के दिन तक ये नहीं बताया जाता है की उसकी शादी किससे हो रही है. और शादी वाले दिन जब वो पहली बार अपने होने वाले पति को देखती है तो भोचक्की रह जाती है.

इसके आगे जो भी कुछ होता है वो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है.
Profile of Ahsaas Channa

YouTube:
https://www.youtube.com/watch?v=O5dLnaVA3d0

SonyLiv:
http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-344-march-1-2014

Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/03/crime-patrol-haryana-father-kills-teen.html


Read More

Posted On: Saturday, March 1, 2014

Deceived: Innocent teenage Harshita gets trapped through social networking website Facebook (Episode 343 on 28th Feb 2014)

धोखा
Deceived


17 साल की हर्षिता आमरे महाराष्ट्र के कोल्हापुर की रहने वाली है. वो पढाई में बहुत अच्छी है और MBA करना चाहती है. उसके माता पिता को उससे बहुत उम्मीदें हैं. उसके पिता उसके लिए एक कंप्यूटर खरीद के लाते हैं और इन्टरनेट कनेक्शन भी लगवाते हैं. माता-पिता इस बात से अनजान हैं की उनकी बेटी इन्टरनेट में क्या-क्या करती है. इसी बीच हर्षिता फेसबुक पर अपनी प्रोफाइल बनती है जिसके माध्यम से उसकी फ़िरोज़ शेख़ नाम के पुणे के एक लड़के से जान-पहचान होती है. उनदोनो की रोज़ की चैटिंग रंग लाने लगती है और धीरे-धीरे मासूम हर्षिता फ़िरोज़ के जाल में फसने लगती है.

एक शाम को ट्यूशन से घर वापस नहीं आती है तो उसकी माँ सरिता चिंतित हो उठती है. वो हर्षिता के पिता को फ़ोन करके उनको सूचित करती है की हर्षिता अभी तक घर वापस नहीं लौटी है. ट्यूशन सेंटर पे पता करने के बाद उसके पिता पुलिस को सूचित करते हैं. दूसरी तरफ हर्षिता अपनी मर्ज़ी से पुणे पहुच चुकी है. वहां स्टेशन पर उसे फ़िरोज़ मिलता है और अपने दोस्त के घर लेकर जाता है और 5 दिन तक उसको धोखे में रख कर उसका शोषण करता है.

हर्षिता पुणे क्यों पहुची? क्या उसके पिता उसको वापस लाने में सफल हो सके?

YouTube:

SonyLiv:
http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-343-february-28-2014

Based on a recent Mumbai case. An unemployed youth Sirtaj Ali from Mumbai trapped a Goa girl through his fake profile with the name "Mohammad Ali" on Facebook. He invited the girl to Mumbai to get married. The 17-year-old girl reached Mumbai on January 8, 2014, and was allegedly assaulted over the next couple of days.

Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/03/crime-patrol-facebook-pal-from-mumbai.html


Other Tags: Love over internet, facebook chatting, love on facebook, love marriage, intenret love, webcam, mms clips, photo, videos

Read More